All government vacancy of UPSC, UPPSC, SSC, railway, Bank. latest entrance exam, academic news

Thursday, 4 December 2014

Final court Order on UPTET 10 December by Supreme Court

Now it seems that Court case of UPTET / 72825 B.ed Trainee Teacher recruitment is in final stage. Its expected that qualifying examination, and base of selection procedure matter which is changed in higher court and Supreme court may be solved on 10 December 2014.  academic merit support now saying that court set the final hearing date on 10 December 2014. Academic Supporter now saying that government should
change the selection procedure and restore the previous selection method and declare TET examination just Eligibility Test . They said government of UP also in their favor . on the other hand UPTET supporter are saying that Selection for the primary teacher should be based on through the UPTET merit . last hearing was held in SC on 26 November. Advocate of academic merit said that according to NCTE , TET is just eligibility test. If merit will be on the basis of TET merit then this will be violation of NCTE guideline.
On the other hand State government said if selection  process of any recruitment is wrong then state government have a special right to change the Selection method.
Final decision on UPTET will come on 10 December. NCTE advocate and Solister general will file there counter on 10 dec.

News in Hindi     IBPS September/October 2014 officer,
    क्वालीफाइंग परीक्षा या फिर चयन आधार बनाने को लेकर तीन साल से चल रहा विवाद
इलाहाबाद : सुप्रीम कोर्ट में टीईटी को लेकर तीन साल से चल रहा विवाद किनारा लगने वाला है। शैक्षणिक मेरिट उत्थान समिति का दावा है कि आगामी दस दिसंबर को प्रकरण की फाइनल सुनवाई की तारीख तय हो गई है। शैक्षणिक मेरिट उत्थान समिति की ओर से दायर याचिका में शैक्षिक आधार पर भर्ती की मांग की गई है और प्रदेश सरकार भी इसी पक्ष में हैं। दूसरी ओर टीईटी मेरिट को ही चयन का आधार बनाया जा रहा है। बीते 26 नवंबर को हुई सुनवाई में समिति के अधिवक्ता राकेश द्विवेदी ने बताया कि टीईटी परीक्षा एनसीटीई के अनुसार केवल पात्रता परीक्षा है। इसका उल्लंघन एनसीटीई के नियमों के विपरीत है। राज्य सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि यदि चयन प्रक्रिया में कोई कमी है तो उसमें परिवर्तन करना राज्य सरकार का विशेषाधिकार है। इस मामले की फाइनल सुनवाई 10 दिसंबर को होगी। जिसमें एनसीटीई के वकील एवं सॉलिसिटर जनरल को जवाब दाखिल करने के लिए बुलाया गया है। समिति की बुधवार को हुई बैठक में इस प्रकरण पर चर्चा हुई और अगली बैठक सात दिसंबर को 11 बजे से चंद्रशेखर आजाद में पार्क में करने पर सहमति बनी।

No comments:

Post a comment